जलेबी (Jalebi recipe in Hindi)

जलेबी एक ऐसी मिठाई है जिसका नाम लेते ही सबके मुंह में पानी आ जाता है और उसे तुरंत खाने का मन करने लगता है। इस पारंपरिक मिठाई को आप पीला और केसरी दो रंगों में बना सकते है। हर भारतीय घर में आपको खास मौको पर और त्यौहारो पर जलेबी खाने को मिलेगी। शुगर के मरीजो को मीठा खाना मना होता है फिर भी वो इसे देखकर इसे खाने के लिए इतने बैचन हो जाती है कि छुप छुपके खाने लगते है। इसी टेस्टी मिठाई को आप आज सीखने वाले है। देखने में लगता है इसे बनाना मुश्किल है लेकिन ऐसा नही है। इसे बनाना बहुत आसान है, आप भी आसानी से घर पर बना सकते है।

जलेबी की लोकप्रियता

जलेबी एक लोकप्रिय मिठाई है जो चाशनी में डूबी हुई गोल आकार की होती है। ये एक पारम्परिक मिठाई मानी जाती है जो सालो से बनाई और खिलाई जा रही है। ये मिठाई लगभग हर त्यौहार में जैसे दिवाली , होली आदि त्यौहार पर बनाई जाती है।

जलेबी का स्वाद और फ्लेवर

जलेबी कुरकुरी और स्वाद में बेहद मीठी होती है। जलेबी बहुत स्वादिष्ट लगती है और ज्यादातर नाश्ते में बाकी नमकीन डिशेस के साथ खाई जाती है। नमकीन डिश के साथ मीठी जलेबी खाने का मजा ही कुछ और है और अगर जलेबी गर्म गर्म खाने को मिले तो मजा कई गुना बढ़ जाता है। जलेबी खाने का सबसे ज्यादा मजा रबड़ी के साथ आता है। मध्यप्रदेश में तो आपको पोहा के साथ जलेबी जरुर खिलाई जाती है।

जलेबी की खासियत

जलेबी एक ख़ास मिठाई है जो खाने में कुरकुरी और मीठी है। इस डिश को बनाने के लिए दो तरीको को अपनाया जाता है। एक तरीका है पारंपरिक तरीका जिसमे घोल को 24 घंटे के लिए भिगोकर बनाया जाता है और दूसरे तरीके में घोल में खमीर उठाने के लिए यीस्ट का प्रयोग किया जाता है। आप दोनों ही तरीको से आसानी से जलेबी बना सकते है। जलेबी की तैयारी में समय लगता है लेकिन jalebi recipe में ज्यादा समय नही लगता है। जलेबी को कई तरीको से खाया जाता है जैसे पोहे के साथ, रबड़ी के साथ, दूध के साथ।

जलेबी को सर्व कैसे करे

  • जलेबी को आप नाश्तो की चीजो जैसे चिवडा और नमकीन के साथ परोस सकते है।
  • जलेबी के ऊपर रबडी डालकर भी परोस सकते है।
  • कुछ लोग पोहे के साथ जलेबी जरुर सर्व करते है।
  • समोसा सर्व करके के बाद कुछ मीठा खिलाने के लिए जलेबी सर्व की जाती है।
  • कुछ लोग दूध के साथ जलेबी सर्व करते है।
5 from 1 vote
Print

जलेबी (Jalebi) बनाने की विधि हिंदी में

जलेबी वो मिठाई है जो वैसे तो पूरा साल खाई और खिलाई जाती है लेकिन सर्दियों के मौसम में गर्म गर्म जलेबी खाने का मजा ही कुछ और है। आप इस टेस्टी जलेबी को बाज़ार में तो खाते ही है पर अगर वो आपको बनाने आ जाए तो आप जलेबी जब चाहे घर पर बना सकती है। कोई त्यौहार हो जैसे दिवाली तो मेहमानों को खिलाने के लिए एक दिन पहले ही घोल बनाकर रख दे और त्यौहार के दिन गरमगरम बनाकर खिलाए, सभी आपकी तारीफ के पुल बांधते जाएगे।

Prep Time 1 day
Cook Time 1 hour
Total Time 1 day 1 hour
Servings 10

Ingredients for जलेबी (Jalebi)

घोल के लिए सामग्री

  • मैदा – 1/2 कप
  • कॉर्न फ्लोर – 1 टेबल स्पून
  • बेकिंग पाउडर – 1/4 टी स्पून
  • हल्दी पाउडर या खाने वाला पीला रंग – 1 चुटकी
  • दही – 1/4 कप
  • पानी – 1/4 कप

चाशनी बनाने के लिए सामग्री

  • चीनी – 1/2 कप
  • पानी - 1/4 कप
  • नीम्बू का रस – 1 टी स्पून
  • इलायची पाउडर – 1 चुटकी
  • केसर – 5 से 6 धागे

How to Make जलेबी (Jalebi)

  1. सबसे पहले मैदा को अच्छे से छान ले।

  2. अब एक बड़े बाउल में मैदा डाले और उसमे बेकिंग सोडा 1/4 टी स्पून, कॉर्न फ्लोर 1 टेबल स्पून, हल्दी एक चुटकी और दही 1/4 कप डाल दे।

  3. अब इसमें थोडा थोडा पानी डालकर घोल तैयार करे।

  4. घोल इडली के घोल से थोडा ज्यादा गाढ़ा होना चाहिए। घोल में गुठलियाँ नही होनी चाहिए।

  5. अब इस घोल को ढक्कन लगा दे और खमीर उठाने के लिए 24 घंटे के लिए किचन में रख दे। रूम टेम्परेचर में रखना है।

  6. अगले दिन घोल में से ढक्कन हटा ले, आपको घोल में बुलबुले दिख रहे होंगे और थोडा सी खट्टी गंध आ रही होगी।

  7. अब चम्मच से घोल को फेट ले।

  8. घोल की कंसिस्टेंसी सही होनी चाहिए नरम घोल से जलेबी का आकार बिगड़ जाएगा और सख्त होने पर जलेबी नरम बनेगी, कुरकुरी नही।

  9. अब इस घोल को सॉस वाली बोतल या जलेबी वाली बोतल में डाले।

  10. अब एक बर्तन ले और उसमे पानी, चीनी, इलायची पाउडर, केसर डाले।

  11. अब आंच को मध्यम रखे और चाशनी पकने के लिए रख दे।

  12. जब एक तार की चाशनी हो जाए तब तक चाशनी पका ले।

  13. जब चाशनी एक तार की हो जाए तब इसमें नीम्बू का रस डाले।

  14. अब चम्मच की मदद से अच्छे से मिक्स करे और आंच बंद करे।

  15. अब पैन में तलने जितना तेल डाले और गरम करने रखे।

  16. अब बोतल में से एक बूँद तेल में डाले अगर बूँद तुरंत ऊपर आ जाए और उसका रंग भी न बदले तो इसका अर्थ है तेल सही गर्म है।

  17. अब जिस बोतल में जलेबी का घोल डाला है उससे बीच से शुरू करते हुए घोल घोल घूमाकर जलेबी बनाते जाए।

  18. शुरू में गोल आकार नही आ पाता, धीरे धीरे प्रैक्टिस से सही आकार आने लगता है।

  19. जब जलेबी कुरकुरी और हल्की गोल्डन ब्राउन हो जाए चिमटे की मदद से निकाल ले।

  20. अब जैसे ही जलेबी तेल से निकाले इसे चाशनी में डालना होता है। अगर चाशनी हल्की गरम है तो ठीक है और अगर ठंडी हो गयी है तो इसे जलेबी तेल में डालने के बाद दूसरे बर्नर पर गरम करने रखे।

  21. अब जलेबी को तलते जाए और चाशनी में डाले और 2 से 3 मिनट चाशनी में रहने दे।

  22. अब जलेबी को एक बार पलटकर चाशनी में डुबो दे और फिर प्लेट में निकाले और परोस दे।

Notes

  • चाशनी का घोल सही कंसिस्टेंसी का होना चाहिए। इडली के घोल से थोडा ज्यादा गाढ़ा।
  • चाशनी में नीम्बू का रस डालना जरुरी है ताकि चाशनी जमे नही।
  • अगर खमीर उठने के बाद आपको घोल पतला लगे तो इसमें थोडा सा मैदा डाले और घोल ले।
  • अगर आपके पास केसर नही है तो इसके बिना भी चाशनी बनाई जा सकती है।

Jalebi Recipe के हिसाब से टेस्टी और मिठास से भरी इस मिठाई को जरुर बनाकर देखे और अपने दोस्तों, मेहमानों और आपके घरवालो को खिलाए, सभी बहुत खुश हो जाएगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Recipe Rating