Sabudana Khichadi Recipe in Hindi – साबूदाना खिचड़ी रेसिपी (बनाने की विधि)

साबूदाना खिचड़ी बनाने की विधि - Sabudana Khichadi

क्या आप भी उनमे से हैं जिनको Sabudana Khichdi बहुत ज्यादा पसंद है और अपनी इस पसंद की डिश को खाने के लिए मार्किट जाना पड़ता है तो ये पोस्ट आप जरुर पढ़िए क्योकि आज की पोस्ट में इसी साबूदाने की खिचड़ी को बनाने की सिंपल रेसिपी के बारे में बताया गया है। ये रेसिपी इतनी सिंपल है कि पढने के बाद आप भी सोचोगे, हाय! सच्ची। जी हाँ सच्ची। इसकी रेसिपी सिंपल है लेकिन इसे ठीक से फॉलो करना जरुरी है और इसे बनाते वक्त ध्यान रखना भी जरुरी है।

साबूदाना की लोकप्रियता

साबूदाना खिचड़ी एक प्रमुख और लोकप्रिय डिश है जो खासकर व्रत के समय खाया जाता है। ये डिश इतनी लोकप्रिय है कि हर शहर में इसके खास स्टाल दिख जाएगे। हमारे यहाँ भी बहुत टेस्टी Sabudana Khichdi मिलती है जिसे खाने वालो की लाइन लगी रहती है। नवरात्रि के दिनो में ये तो 10 दिन तक रोज बनाया और खाया जाता है।

साबूदाना खिचड़ी का स्वाद और फ्लेवर

साबूदाना खिचड़ी का स्वाद नमकीन होता है। कुछ जगह पर इसे बना लेने के लिए इसमें चीनी भी डाली जाती है, जिस वजह से इसमें थोड़ी सी मिठास भी आ जाती है। Sabudana Khichdi में भुनी हुई मूंगफली डाली जाती है जिससे इसमें क्रंच आ जाता है। करी पत्ता डालने की वजह से इसका फ्लेवर गजब का हो जाता है। इसमें नीम्बू का रस भी डाला जाता है जिस वजह से इसके स्वाद में चार चाँद लग जाते है। मुझे इसमें अदरक का फ्लेवर बहुत पसंद आता है।

साबूदाना खिचड़ी का खासियत

साबूदाना खिचड़ी की खासियत है इसका बेमिसाल स्वाद। इसको बनाने के लिए आपको ज्यादा समय खर्च नही करना पड़ेगा और न ही आपको ज्यादा पैसे खर्च करने की जरुरत पडती है। इसको बनाने के लिए आपको जो सामग्री चाहिए वो ज्यादातर हर घर में होती है जैसे साबूदाना, मूंगफली दाने, नीम्बू और अन्य मसाले। इसको बनाने की रेसिपी बहुत सिंपल है। इसकी रेसिपी समझने के लिए सिर्फ कुछ मिनट ही काफी है। ये डिश बच्चो को और बढ़ो को दोनों को बहुत पसंद आता है। बच्चे इसे टिफ़िन में ले जाने में बहुत खुश होते है।

साबूदाना खिचड़ी को कैसे सर्व करे

  • साबूदाना खिचड़ी को आप नाश्ते में सर्व कर सकते है।
  • व्रत के दिनों में आप इसे सर्व कर सकते है।
  • ख़ास मेहमान आने वाले हो तो उन्हें शाम के वक्त स्नैक के रूप में खिला सकते है।
  • इसके ऊपर थोड़े से सेव डालकर भी सर्व कर सकते है, बहुत अच्छा लगता है।
  • साबूदाना खिचड़ी को आप राजगिरी की कढ़ी के साथ सर्व करे। सभी को खाने का मज़ा आ जाएगा।
साबूदाना खिचड़ी बनाने की विधि - Sabudana Khichadi
5 from 1 vote
Print

साबूदाना खिचड़ी (Sabudana Khichadi) बनाने की विधि हिंदी में

Sabudana Khichdi एक फेमस डिश है जिसे बनाना आज आप सीखने वाले है। हम में से कई इसे बनाते है लेकिन या तो ज्यादा खिचड़ी हो जाती है या फिर बहुत ज्यादा सूखे सूखे बन जाते है। दोनों ही सूरतो में इसका स्वाद बिगड़ जाता है। अगर आपके साबुदानो के साथ भी यही हाल होता है तो आपको ये रेसिपी जरुर पढनी चाहिए और इसके हिसाब से बनाना चाहिए। अगर आप इस हिसाब से साबूदाना खिचड़ी बनाएगे तो आपके साबूदाने में इतने बेमिसाल बनेगे कि सब खाते खाते वाह वाह करते जाएगे।

Prep Time 5 minutes
Cook Time 15 minutes
Total Time 20 minutes
Servings 4

Ingredients for साबूदाना खिचड़ी (Sabudana Khichadi)

  • साबूदाना – 1 कप
  • आलू – 2
  • मूंगफली दाने -1/2 कप
  • करी पत्ता – 10
  • अदरक – 1 टी स्पून
  • हरी मिर्च – 1
  • जीरा – 1 टी स्पून
  • कद्दूकस किया ताजा नारियल – 1/4 कप
  • चीनी - 1/2 टी स्पून
  • नीम्बू का रस – 1/2 टी स्पून
  • घी या तेल – 3 टेबल स्पून
  • स्वादानुसार सेंधा नमक

How to Make साबूदाना खिचड़ी (Sabudana Khichadi)

  1. साबूदाना को तीन से चार पानी से अच्छे से धो ले और रात को भिगो दे। अगर दिन में कभी बनाना है तो बनाने से 5 घंटे पहले भिगो दे।

  2. अगले दिन साबूदाना में से सारा पानी निकाल ले, इसके लिए छन्नी का इस्तेमाल करे।

  3. अब आलू को धो ले और उबालने रखे।

  4. जब आलू उबल जाए आलू छीले और छोटा छोटा काट ले।

  5. अब गैस पर पैन रखे और उसमे मूंगफली के दाने रखे और भून ले।

  6. जब मूंगफली भुन जाए तब इसे ठंडा होने दे और फिर इसको छिल्के उतार ले और दरदरा कूट ले।

  7. अब इन दरदरे कुटे मूंगफली दानो को साबुदानो में डाल दे।

  8. अब साबूदाने में चीनी और स्वादानुसार नमक डाले।

  9. अब गैस पर पैन या कड़ाई रखे और तेल डालकर गरम करने रखे।

  10. अब इसमें जीरा डाले और भूने।

  11. जब जीरा भुन जाए तब इसे हरी मिर्च और करी पत्ता डाले और भूने।

  12. कुछ सेकंड्स बाद इसमें अदरक को कद्दूकस करके डाले। 

  13. अब कुछ सेकंड्स बाद इसमें उबले और कटे हुए आलू डाले और मिक्स करते हुए भूने।

  14. एक मिनट बाद इसमें साबूदाने डाले और कम आंच पर मिलाते हुए पका ले।

  15. 4 से 5 मिनट तक कम आंच पर पका ले।

  16. जब साबूदाना ट्रांस्लुसेंट हो जाए यानि पारदर्शी हो जाए इसका अर्थ है साबूदाना पक गया है।

  17. Sabudana Khichdi को 5 मिनट से ज्यादा न पकाए वरना साबूदाना कडक हो जाता है और खिला खिला नही बनता।

  18. आंच बंद करे और इसे तुरंत एक बाउल में निकाल ले। 

  19. अब इसके ऊपर हरा धनियाँ डाले। 

  20. अब इसमें नीम्बू का रस डाले और मिला ले।

  21. अब सर्व करते समय Sabudana Khichdi के ऊपर थोडा सा हरा धनियाँ और डाले और थोडा सा कद्दूकस करा नारियल डाले।

  22. अब साबूदाना खिचड़ी गरमागरम सर्व करे।

Notes

  • साबूदाना को अच्छे से धोना जरुरी है।

  • जब आप साबूदाना धोकर भिगोते है तो बाउल में साबूदाना के ऊपर सिर्फ एक इंच तक पानी होना चाहिए इससे ज्यादा नही।

  • साबूदाना रात को भिगोए तो ज्यादा अच्छा है और अगर भिगोना भूल गए है तो बनाने से 5 घंटे पहले भिगो दे।

  • साबूदाना बनाने से पहले चेक करे की साबूदाना बनाने के लिए रेडी है या नही। इसके लिए एक साबूदाना ले और उसे दबाकर देखे, अगर आसानी से दब रहा है तो साबूदाना बनाने के लिए तैयार है। लेकिन अगर आपको लग रहा है कि साबूदाना ठीक से नही दब रहा तो एक या दो टेबल स्पून पानी डाले और कम से कम आधा घंटा भिगो दे।

  • आजकल बाज़ार में अलग अलग तरह के साबूदाने मिलते है इसलिए इसे भिगोने का समय अलग अलग हो सकता है।

  • आप चाहे तो आलू को तलकर भी डाल सकते है।

  • कभी भी साबूदाना को ज्यादा न पकाए। साबूदाना डालने के बाद सिर्फ पांच मिनट पकाना ही काफी है।

  • Sabudana Khichdi जैसे ही बने इसे तुरंत किसी बाउल में निकाल ले क्योकि पैन गर्म है और साबूदाना उसमे रखने से और पक जाएगे।

  • साबूदाना भिगोते वक्त कभी भी ज्यादा पानी न डाले वरना साबूदाने चिपचिपे हो जाते है।

आज आप Sabudana Khichdi बनाना सीख ही गए, बस तो देर किस बात की, आज ही साबूदाना भिगो दे और अगले दिन सुबह बना ले और सबको नाश्ते में टेस्टी साबुदाना खिचड़ी खिलाकर सरप्राइज करे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Recipe Rating